गर्भपात

 

पहले ट्रिमस्टर में गर्भपात की क्या विधियां है?

पहले ट्रिमस्टर में किए जा सकने वाले गर्भपात की विधियों में शामिल है -

1. ग्रीवा को ढीला करके गर्भाशया को खाली करना। क्युरेटैज/सॅक्शन इवैक्युरेशन/वैक्युम एसपिरेशन/डिलेटेशन और खाली करना

2. माहवारी एसपिरेशन (एम आर)

3. चिकित्सकीय विधियां

 
 
 

ग्रीवा को ढीला करके खाली करना क्या होता है?

गर्भ की प्रारम्भावस्था में की जाने वाले यह एक प्रकार की शल्यक्रिया है, यह 12 सप्ताह से पहले होती है, पहले ग्रीवा को ढीला किया जाता है इसके लिए एक अन्दर से खाली रॉड डाली जाती है जो कि ग्रीवा को विस्तृत कर देती है, फिर मशीन द्वारा गर्भाशय के अन्दर के पदार्थ को खरोंचकर या चूसकर या दोनों तरीके से बाहर निकाल लिया जाता है। इस प्रक्रिया में लगभग 15 मिनट लगते हैं।

ग्रीवा को विस्तृत करने और खाली करने के क्या लाभ हैं?

ग्रीवा को विस्तृत करने और खाली करने के लाभ हैं -

- एक बार की प्रक्रिया

- सुरक्षित

- नसबन्दी या इन्टरा युटरीन डिवाइज़ डालने की सम्भावना रहती है

- उसी दिन घर वापिस जा सकते हैं।

- दूसरे दिन काम पर वापिस लौट सकते हैं।

ग्रीवा परक विस्तार और खाली करने की विधि के साथ क्या खतरे जुड़े रहते हैं?

ग्रीवा परक विस्तार और खाली करने की विधि के साथ खरतों में शामिल है :

- एनसथिशीया के लिए प्रयुक्त दवाओं की प्रतिक्रिया

- रक्त स्राव

- गर्भाशय और अण्डवाही ट्यूब में इन्फैक्शन

- गर्भाशय के छेदन की दुर्घटना

- भावात्मक कष्ट

माहवारी का नियमन या एसपिरेशन क्या है?

महवारी नियमन को मिनिसक्शन, मिनिएबोरशन, वैक्युम एसपिरेशन, लंच टाइम एबोरशन भी कहते हैं जो कि माहवारी न होने के 1 से 3 सप्ताह के भीतर किया जाता है। यह प्रक्रिया बाह्य रोगी के रूप में ही की जाती है। गर्भाशय में प्लास्टिक की एक पतली सी ट्यूब डाली जाती है और सरिंज में नैगेटिव प्रेशर बनाकर अन्दर के पदार्थ को बाहर खींच लिया जाता है। इस प्रक्रिया को करने में दस मिनट का समय लगता है।

माहवारी नियमन के लाभ क्या है?

माहवारी नियमन के लाभों में शामिल हैं :

- अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं।

- एनस्थीशिया के बिना किया जाता है।

- शल्यक्रिया के खतरे कम होते हैं

- व्यक्ति घर जा सकता है और अपने दैनिक कामकाज कर सकता है।

माहवारी नियमन के साथ कौन से खतरे जुड़े हैं?

सम्बन्धित खतरों में शामिल है -

- प्रक्रिया की असफलता

- रक्त स्राव

- इन्फैक्शन

गर्भपात

 

top women in the world