स्त्री स्तन परीक्षण

 

अपने आप स्तन परीक्षण कैसे किया जाता है?

अपने आप स्तन परीक्षण के पांच चरण हैं।

चरण 1 - कन्धों को सीधा करके और बाहों को नितम्बों पर रखते हुए अपने स्तनों को शीशे में देखना शुरू करें। आपको देखना है –

(1) स्तन अपने सामान्य आकार, माप और रंग के हैं।

(2) उनका आकार बराबर है - कहीं कोई विकास अथवा सूजन दिखाई न दे। यदि आपको निम्नलिखित कोई भी बदलाव नजर आये तो एकदम डाक्टर को बतायें।

 

 
 
 


(3) त्वचा में कहीं गड्डे हो रहे हैं, सिकुड़न या फैलाव आ रहा है

(4) निप्पल की जगह बदल गई है या अन्दर की ओर धस गया है (बाहर की ओर उभरे रहने की अपेक्षा)

(5) लालिमा, कड़ापन, रैश या सूजन।

 

चरण 2 - अब अपनी बांह को ऊपर उठाकर उन्ही बदलावों को पुनः देखें।Breast Check

चरण 3 - शीशे मे देखते देखते निप्पल को अंगुली और अंगुठे के बीच दबायें और निप्पल से होने वाले स्राव को परखें (वह दूध जैसा तरल पदार्थ या रक्त हो सकता है)lying down breast examination

चरण 4 - अगले चरण में, आप लेटकर अपे स्तनों को महसूस करें, बायें सतन को जांचने के लिए बांये का और दायें स्तन को जांचने के लेए बांये हाथ को इस्तेमाल करें। हाथ की पहली कुछ अंगुलियों को सीधा रखकर और मिलाकर दृढ़ परन्तु कोमल स्पर्श का प्रयोग करें।

चरण 5 - अन्ततः खड़े होकर या बैठकर अपने स्तनों को जांचें। चौथे चरण में बताई गई प्रक्रिया से पूरे स्तन को भली भांति जांचे।

स्त्री में स्तनपरक समस्याएं

 

top women in the world