स्त्री में विभिन्न लैंगिक विकार - महिला यौन घ्रणा विकार (Sexual Adversion Disorder)

स्त्री यौन विकार स्त्री यौन उत्तेजना चक्र स्त्री में विभिन्न लैंगिक विकार
स्त्री यौन घ्रणा विकार स्त्री कामोत्तेजना विकार स्त्री चरम-आनंद विकार
कष्टप्रद संभोग- योनि आकर्ष स्त्री यौन विकार के कारण यौन उत्तेजना चक्र को प्रभावित करने वाले रोग
महिला सेक्स विकार के मनोवैज्ञानिक पहलू स्त्री यौन विकार के निदान हेतु सामान्य शारीरिक और प्रजनन तंत्र का परीक्षण कामोत्तेजना विकार उपचार
कीगल व्यायाम यौन-इच्छा विकार कामोत्तेजना विकार
चरम-आनंद विकार कष्टप्रद संभोग के उपचार रजोनिवृत्ति (Menopause)
रजोनिवृत्ति में शारीरिक परिवर्तन रजोनिवृत्ति में ईस्ट्रोजन-प्रोजेस्टिन उपचार शुष्क योनि के उपचार
स्त्रियों में काम-ज्वाला भड़काने में टेस्टोस्टिरोन का प्रयोग फीमेल वियाग्रा स्त्री कामोत्तेजना विकार के उपचार के लिए अलसी का प्रयोग

महिला यौन घ्रणा विकार (Sexual Adversion Disorder)

इस विकार में स्त्री को यौन-संबन्ध तनिक भी रुचिकर नहीं लगता है। महिला संभोग से बचने के लिए हर संभव प्रयत्न करती है। यदि उसका साथी शारीरिक संबन्ध बनाने की कौशिश करता है तो वह तनाव में आ जाती है, डर जाती है

 
 

उसका जी घबराने लगता है, दिल धड़कने लगता है, यहाँ तक कि वह बेहोश भी हो जाती है। साथी से सामना न हो इसलिए वह जल्दी सो जाती है, स्वयं को सामाजिक या अन्य कार्यों में व्यस्त रखती है या फिर किसी भी ऊंच-नीच की परवाह किये बिना घर तक छोड़ देती है।

यौन उत्तेजना चक्र में विभिन्न हार्मोन्स और नाड़ी संदेशवाहकों की भूमिका

सेक्स हार्मोन / नाड़ी संदेशवाहक

लैंगिक कार्य

घनात्मक /ऋणात्मक

विवरण

डोपामीन

कामेच्छा, कामोत्तेजना

घनात्मक

लैंगिक संसर्ग की शुरुआत को पूरा करने की लालसा

­­­­­ईस्ट्रोजन

कामोत्तेजना, कामेच्छा

घनात्मक

ईस्ट्रोजन की कमी होने पर योनि का अपक्षय, स्नेहन, संवेदना और रक्त-संकुलन  कम होना

नाइट्रिक ऑक्साइड

भगशिश्न में रक्त का भराव

घनात्मक

नाइट्रिक ऑक्साइड द्वारा रक्त-संग्रह (Vasocongestion) के लिए ईस्ट्रोजन और टेस्टोस्टिरोन की पर्याप्त मात्रा आवश्यक  होती है।

नोरइपिनेफ्रीन

कामोत्तेजना

घनात्मक

ऑक्सिटोसिन

संवेदना, चरमानंद

घनात्मक

चरमानंद में मूलाधार की पेशियों के क्रमबद्ध संकुचन में सहायक

प्रोजेस्ट्रोन

संवेदना

घनात्मक

संभवतः ईस्ट्रोजनरोधी

प्रोलेक्टिन

कामोत्तेजना

ऋणात्मक

सीरोटोनिन

कामोत्तेजना, कामेच्छा

घनात्मक/ ऋणात्मक

नोरइपिनेफ्रीन और डोपामीन के स्राव पर ऋणात्मक प्रभाव, चरमानंद में गर्भाशय के संकुचन में सहायक लेकिन अन्य तरीकों से चरमानंद में अवरोध 

टेस्टोस्टिरोन

कामेच्छा, लैंगिक संसर्ग

घनात्मक

 

पिछला पृष्ट मैं स्त्री होम पेज अगला पृष्ट

लेखक - Dr. O.P.Verma 7-B-43, Mahaveer Nagar III, Kota

 

top women in the world