गर्भ धारण : दूसरा ट्रिमस्टर

 

गर्भ की दूसरी स्थिति (ट्रिमस्टर) के क्या लक्षण एवं चिन्ह होते हैं?

दूसरी स्थिति में (1) मित्तली और थकावट कम हो जाती है।

(2) पेट बढ़ जाता है

(3) वज़न बढ़ता है

(4) पीठ दर्द

(5) पेट पर फैलाव के निशान

(6) चेहरे का रंग बदलना।

 
 
 

तीसरा ट्रिमस्टर

गर्भ धारण की तीसरी स्थिती (ट्रिमस्टर) के क्या लक्षण एवं चिन्ह होते हैं?

तीसरी स्थिति में निम्नलिखित लक्षण एवं चिन्ह उभरते हैं -

(1) बच्चे के बढ़ने से दबाव के कारण श्वास लेने में कठिनाई बढ़ जाती है।

(2) जल्दी जल्दी मूत्र त्याग

(3) छाती में जलन वाली दर्द

(4) कब्ज

(5) सूजे हुए ढीले स्तन

(6) अनिद्रा

(7) पेट में मरोड़।


 

गर्भ धारण

 

top women in the world