फल सब्जियां खायें निखरी त्वचा पायें

दमकता चेहरा पाने के लिये ज्यादा मशक्कत करने की जरूरत नहीं है, फल सब्जियां खायें निखरी त्वचा पायें। भारत में तो पहले से ही स्थापित आहार नियम शाकाहार की पैरवी करते हैं परंतु आज कल पश्चिमी देशों की जीवनशैली में अपने आहार में रोजाना पांच तरहे के फल और सब्जियों को शामिल करने की सलाह दी जा रही है।

 

ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के इयान स्टीफन ने बताया कि लोगों को उनकी त्वचा की कमिया बताने से ज्यादा बेहतर है कि उन्हे यह बताया जाय कि केवल आहार में चंद फल और सब्जियां शामिल करनेभर से उनको इस समस्या से निजात मिल जाएगी।

 

उनका मानना है कि कैरोटिनायड जो - 600 तरह के पिंगमेंट के प्रकारों में से एक है वह फलो- सब्जियों में बहुतायत में पाया जाता है और यही हमारी त्वचा की चमक का रहस्यमयी तत्व रहा है। और जब हमे यह पता चल ही गया है कि केरोटिनायड हमें फलो-सब्डियों से आसानी से मिल सकता है तो फिर हमें सूर्य की रोशनी में घंटो सनबाथ कर त्वचा झुलसाने की क्या जरूरत है।

इस रिसर्च की जांच करने के लिए स्वयंसेवी समूह ने लोगों को पांच तरह के फलों और एक सब्जी के आहार पर रखा और एक महीने के बाद इन सभी लोगों के फोटो अनजान लोगों के सामने रख कर त्वचा के आकर्षक दिखने की रेटिंग की गई। तमाम अनजान लोगों ने इस आहार नियम का पालन करने वालों के बाद के फोटो में पाया कि वे सभी पहले की तुलना में ज्यादा आकर्षक लग रहे थे।

वैज्ञानिक जिनमें सायकॉलाजिस्ट भी शामिल थे जिनमें सेंट एनड्रयूज यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डेविड पीरेट का कहना है कि इस रिसर्च के नतीजे को तो सरकार के स्वस्थ खानपान के कार्यक्रम में शामिल किया जा सकता है। उनका कहना है कि लोगों को यह बताना ज्यादा आसान है कि फल -सब्जियों से उनकी त्वचा मे अपेक्षाकृत जल्दी निखार आता है बनिस्बत इसके कि हम उन्हे उनकी त्वचा की खामिया गिना कर हतोत्साहित करें। प्रोफेसर का कहना था कि हम तो खुद इस रिसर्च के नतीजों से आश्चर्यचकित हैं कि क्या सचमुच केवल फल-सब्जी को इस तरह अपने आहार में शामिल करने से सनबाथ की जरूरत नहीं रह जाती और हमें निखरी-निखरी त्वचा मिल सकती है। वाकई कमाल की बात है।

 

top women in the world