गर्भावस्था में कैसे रहें स्मार्ट

 

गर्भावस्था में भी आप स्मार्ट बनकर रहें कारण ये कोई शर्मनाक स्थिति नहीं है बल्कि .ये मौका तो घर संसार में आने वाली खुशियों का है जिसका इंतजार हर शादीशुदा रिस्तों को होता है,आनेवाला सदस्य परिवार में किसी का बेटा या बेटी,किसी का भाई ,बहन तो किसी का नाती, पोता होगा। हर कोई इस खुशी को पाने के लिये लालायित रहता है सो हर इंसान उस जननी को इज्जत की नजरों से देखता है । गर्भवती महिला अपने अंदर हो रहे परिवर्तनों को लेकर ग्लानि महसूस न करें कारण इसका असर होने वाले बच्चे पर भी पड़ता है साथ ही खुद पर भी पड़ता है । इस अवस्था में भी अपने को सुंदर व आकर्षक बनाये रखें। इसके लिये बस थोड़ी सी देखभाल की जरूरत है।

 
 
 

अपने पहनावे पर ध्यान दें–

शरीर में हो रहे परिवर्तनों को ध्यान में रखते हुए कपडे पहनें जिसकी वजह से आपको सोने, उठने बैठने ,चलने में किसी तरह की परेशानी महसूस न हो कारण कसे ब्लाउस,कसी ब्रा पहनने से शरीर के रक्त संचार पर इसका असर पड़ सकता है (.ये सोचकर कि थोडे दिनों की तो बात है )

ज्यादातर गाढे रंग के कपडे पहने कारण इससे शरीर के उभार कम नजर आते है ।


आजकल गर्भावस्था  में पहनने  वाले कपडे आसानी से बाजारों मे मिलजाते हैं इस लिये कपडे खरीदते वक्त अपने आराम तथा लुक का  भी पूरा ध्यान रखें।आजकल की महिलाओं को इस अवस्था में भी घर से बाहर निकलना पडता है। आपके अच्छे पहनावे से आपका लुक और सुविधा दोनों बनी रहेगी।

- इस अवस्था में अपने जूते चप्पल पर विषेश ध्यान दें इस समय महिलाये  ऊंची ऐडी के जूते चप्पल न ही पहनें तो अच्छा होगा कारण  इससे आपके शरीर के कुछ हिस्सों पर अतिरिक्त दबाव पड सकता है  रक्त संचार में असुविधा आ सकती है । जिसके कारण आपको दवाईयां खानी पड़ सकती है जबकि इस स्थिति में कम से कम दवाईयों का इस्तेमाल होना चाहिये                   

- आपका पैर मुड़ सकता है आप गिर भी सकती है , पैर में मोच , सूजन आ सकती है ।

- गर्भावस्था मे भी अपने ,शरीर की साफ सफाई पर पूरा ध्यान दे ।अपने हाथ , पैर की सफाई(पैडीक्योर ,मैनिक्योर) घर पर ही कर सकती है गुनगुना पानी लेकर उसमें  नमक ,नींबू तथा थोडा ,सा शैंपू डालकर झाग बनाकर उसमें पैर डालकर आधा घंटा बैठे धीरे धीरे किसी पुराने टूथ ब्रश से एडियों को साफ करें फिर साफ पानी में पैर धोकर सूखे कपडे से पोंछ कर सुखालें अब किसी तेल से हल्के हाथ से मालिश करें फिर चाहे तो मोजे पहन लें। ऐसे ही हाथों की भी सफाई कर मालिश करें ।इससे दो फायदे हैं साफ सफाई तथा सिंकाई जिससे आपको काफी आराम मिलेगा|। 

- इसी तरह से चेहरे की भी देखभाल कर सकती हैं ।घर पर ही हल्का फुल्का पैक बनाकर लगायें (बेसन ,तेल,जरा सी हल्दी मिलाकर)

जो भी फल खायें उसी के गूदे को मसलकर चेहरे पर मल दें आधा घंटा बाद नार्मल पानी से धो लें बिना साबुन लगाये ।इससे चेहरे पर अतिरिक्त निखार आयेगा कील मुहांसे भी साफ हो जायेंगे।

- गर्भावस्था में सबसे जरूरी बात है खान पान पर विषेश ध्यान रखना हरी व ताजी सब्जियां,अंकुरित अनाज ,दूध,दही फल जो आपको तथा आपके बच्चे की सेहत के लि.ये फायदेमंद व जरूरी भी है।इससे आपको आयरन तथा कैल्शियम मिलेगा जिसकी आपको अतिरिक्त जरूरत है कारण अधिकतर महिलायें इस अवस्था में एनिमिक हो जाती हैं( खून की कमी)

जिसे आप अपने खान पान पर ध्यान रख कर पूरा कर सकती हैं।

- गर्भवती महिलाओं में उनकी सुंदरता को कम करने वाले बदलाव के साथ साथ उनकी खूबसूरती को बढाने वाले बदलाव भी आते हैं  जैसे उनके चेहरे की चमकी चमक बढ़ जाती है ,बाल काले व घने दिखने लगते हैं ।शरीर के कई हिस्से सुडौल होने लगते हैं त्वचा पर चिकनाहट आ जाती है ।कई बार कील मुंहासे भी खुद ही ठीक होने लगते है यदि नहीं तो थोडे़ उबटन वगैरह लगाने से ठीक हो जाते है ।

- गर्भवती महिलाओं की त्वचा पर खिंचाव ज्यादा पडता है कारण शरीर का आकार बढने लगता है ज्यादातर वक्ष ,पेट ,कूल्हे पर इसका असर दिखाई देता है जो बच्चे के पैदा होने के बाद भी असर( निशान) छोड़ जाता है

इसके लिये आप शुरू के दिनों से ही अपने हाथों से हल्की मालिश कर सकती हैं सरसों या नारियल के तेल से।

- इस अवस्था मे सिर्फ खुद का ही खयाल न रखें साथ पति तथा अन्य रिश्तों का भी पूरा ध्यान रखें।  पति से प्रेम तथा अन्य से प्यार बनाये रखें  कारण इसका असर आप के होने वाले बच्चे पर भी पडता है।

छोटी छोटी बातों को ध्यान में रखकर हर तरह का लाभ उठायें और इस तरह गर्भावस्था में भी अपने आपको सुंदर व आकर्षक बनाए रखें ।

मैं स्त्री होम पेज

 

top women in the world