महिलाओं में अण्डकोष की पुष्टि

 

अण्डकोष की पुष्टि क्या होती है?

अण्डकोष के अन्दर या ऊपर जब सूजन हो जाती है या कुछ उग आता है तो उसे अण्डकोष की पुष्टि कहते हैं यह सख्त भी हो सकती है और तरल भी।

अण्डकोष की पुष्टि में क्या कैंसर की सम्भावना रहती है?

अण्डकोष मे उग आने वाले पदार्थ अधिकतर कैंसर के नहीं होते।

 
 
 

अण्डकोष की पुष्टि के लक्षण क्या हैं?

अण्डकोष की पुष्टि के निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं-

(1) अण्डकोष की पुष्टि में अधिकतर औरतों को किन्हीं लक्षणों की अनुभूति नहीं होती, विशेषकर अगर वे छोटे हों।

(2) कुछ पुटियां बड़ी हो जाती हैं तो हो सकता है कि उदर में सूजन पैदा करें।


(3) पुष्टि कहां पर है, कितनी बड़ी है उसके अनुसार ही मूत्राशय या मल पर दबाव पड़ता है और हो सकता है कि आपको जल्दी-जल्दी (टायलेट) शौचालय में जाना पड़े।

(4) आपको पेट में कुछ कष्ट हो सकता है और सम्भोग भी कष्टदायक या पीड़ा भरा हो सकता है।

(5) इसका पीरियड पर भी प्रभाव पड़ सकता है, रक्त स्राव अनियमित हो सकता है, पहले के सामान्य प्रवाह से भारी या हल्का हो सकता है।

(6) चेहरे या शरीर पर अधिक बाल आ सकते हैं।

(7) आवाज भारी हो सकती है।

अण्डकोष की पुष्टि का उपचार क्या है?

कभी-कभी पुष्टि बनती है और अपने आप गायब भी हो जाती है जबकि कभी-कभी उसे शल्यक्रिया द्वारा निकालना पड़ सकता है। आपका डाक्टर आपको उसकी सभी सम्भावनाओं के सम्बन्ध में समझाएगा।

पौलीकायस्टिक ओवरी सिन्डरोम (पी सी ओस) क्या होता है?

पौलीकायस्टिक का सामान्य अर्थ है 'बहुत सी पुटियां' जो कि अल्टरासाऊण्ड स्कैन से अण्डकोष पर दिख जाती है।

पी सी ओस के लक्षण क्या हैं?

पी सी ओस के लक्षणों में शामिल है- (1) पीरियड की अनियमितता या बिल्कुल न होना (2) अनउर्वरकता (3) शरीर पर अनपेक्षित बाल (4) मुंहासे (5) वजन बढ़ना (6) पेट में तकलीफ।

पी सी ओस का उपचार क्या है?

पी सी ओस का उपचार हॉरमोन परक दवाओं या शल्यक्रिया द्वारा हो सकता है। उपचार किस प्रकार किया जाए इसका निर्णय डाक्टर कर सकता है।

 

top women in the world