आंखों को स्वस्थ रखने के उपाय

 

1. आंखों में कचरा या मच्छर गया हो तो सीधे खड़े हो जायें और दोनों आंखें बंद कर पीछे की तरफ सिर्फ तीन कदम हटें फिर रूक जायें।जिस आंख में कुछ गया हो उसे हथेली से हल्के से मसलें और आखें खोल दें कचरा या मच्छर बाहर निकल जायेगा खयाल रखें जिस आंख में कुछ गया हो उसे न मसलें।

2. सुबह उठते ही मुंह में पानी भर कर मुंह फुलाकर शीतल जल से  आंखों पर छीटे मारना चाहिये। इससे आंखों की ज्योति बढ़ती है  और आंखों की बीमारी दूर होती है।

 

 
 
 

3. रात को 1 चम्मच त्रिफला मिट्टी के बर्तन में भिगाकर सुबह निथरे पानी से आंख धोयें। इससे रोशनी बढ़ती है बीमारी नहीं होती।

4. पैरों के तलवे में सरसों के तेल की मालिश करने, स्नान से पूर्व अंगूठे को सरसों के तेल से तर कर देने से आंख के रोग नहीं होते, आंखों की रोशनी बढ़ती है।

5. आंखों की स्वस्थ्यता के लिए अच्छी नींद जरूरी है। वरना आंखों के नीचे काला पड़ जाता है और रोशनी धुंधली पड़ जाती है।


6. लगातार नहीं पढ़ना चाहिए। आंखों को विश्राम दें। सूर्य की रोशनी को टकटकी लगाकर नहीं देखना चाहिए।

7. यात्रा के दौरान पढ़ना नहीं चाहिए।

8. प्रातः नंगे पांव हरी घास पर टहलना चाहिए।

9. अधिक धूम्रपान, मदिरापान आंखों को नुकसान पहुंचाती है।

10. बच्चों को तीर, धनुष, गिल्ली डंडा खेलते समय सावधानी बरतें।

11. हरी इलाइची छोटी 10 ग्राम, सौंफ 20 ग्राम मिश्रण सबको महीन पीस लें। एक चम्मच चूर्ण दूध के साथ पीने से आंखों की ज्योति बढ़ती है।

12. आंखों में सूजन हो जाने पर नीम के पत्ते को पीस कर ,अगर दाई आंख में है तो बाएं पैर के अंगूठे पर नीम का पत्ती को पीस कर लेप करें। ऐसा अगर बाई आंख में हो तो दाएं अंगूठे पर लेप करें। आंखों की लाली व सूजन ठीक हो जायेगी।

13. विटामिन ए की कमी से आंखों के रोग होते हैं।

14. विटामिन ए की कमी से हजारों बच्चे, बड़े अंधे हो जाते हैं। विटामिन की कमी न रहे इसलिये गर्भवती महिला को चाहिये विटामिन ए अवश्य लें। बच्चों को प्रारंभिक 6 माह तक मां का दूध अवश्य दिया जाये।

मैं स्त्री होम पेज

 

top women in the world