रिमोट से ऑन-ऑफ होने वाली गर्भनिरोधक चिप तय करेगा- बच्चा चाहिए या नहीं!

अमेरिका की एक कंपनी ने ऐसी गर्भनिरोधक चिप तैयार की है, जिसे रिमोट कंट्रोल से ऑन और ऑफ किया जा सकता है। महिलाओं के लिए बनी इस चिप को स्किन के नीचे इंप्लांट किया जा सकता है। इसके बाद बाद यह चिप 16 साल तक लगातार काम कर सकती है। माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स द्वारा समर्थित मैसाचूसिट्स की कंपनी माइक्रोचिप्स ने स्पेशल इंप्लांट डिवेलप किया है। मजेदार बात यह है कि डिवेलपर्स को इस चिप को बनाने का आइडिया भी बिल गेट्स की वजह से ही मिला था। 2 साल पहले मैसाचूसिट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी की लैब में आए गेट्स ने वहां के प्रफेसर से पूछा था कि क्या बर्थ कंट्रोल का ऐसा तरीका हो सकता है जिसे महिला ऑन या ऑफ कर सके।

इस इंप्लांट में लगी चिप 16 साल तक हर रोज लिवोनोर्जेस्ट्रेल नाम का हारमोन रिलीज करेगी। यह हारमोन प्रेगनेंसी रोकता है। इसके साथ ही एक और इंप्लांट करवाने के बाद महिला वायरलेस कंट्रोल से इस चिप को ऐक्टिवेट या डिऐक्टिवेट कर सकती है। यानी एक तरह से यह गर्भनिरोध का काफी सुविधाजनक तरीका है।

इस स्पेशल चिप को हिप्स, बांहों या पेट में स्किन के नीचे इंप्लांट किया जा सकता है। इसके डिवेलपर्स का दावा है कि इस इस इंप्लांट से लंबे समय तक बर्थ कंट्रोल सॉल्यूशन मिलेगा और साथ ही डॉक्टरों के क्लीनिक्स के चक्कर भी नहीं काटने पड़ेंगे। अभी जो गर्भनिरोधक इंप्लांट मौजूद हैं, वे ज्यादा से ज्यादा 3 साल तक इफेक्टिव रहते हैं। अगर इससे पहले अगर कोई महिला बेबी प्लान करती है, तो उसे क्लिनिक जाकर इसे हटवाना पड़ता है। इस इंप्लांट को तैयार करने वालों का कहना है कि अगर इस इंप्लांट ने सेफ्टी टेस्ट पास कर दिए तो यह साल 2018 तक बाजार में होगा। इस इंप्लांट की क्लीनिकल टेस्टिंग अगले साल शुरू होगी।
 

top women in the world